ओलावृष्टि से प्रभावित हुई फसलों का अधिकतम 7 दिन में सर्वे करने के निर्देश, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वीसी के माध्यम से ओलावृष्टि, रोजगार मेला एवं कोरोना की समीक्षा की

0
146

उज्जैन । मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल मंत्रालय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ओलावृष्टि से हुई क्षति, 12 जनवरी को होने वाले रोजगार मेला की तैयारी तथा कोरोना की समीक्षा की। वीसी के माध्यम से हाल ही में ओलावृष्टि एवं अतिवृष्टि से फसलें प्रभावित हुई हैं, वहां कलेक्टरों को निर्देश दिये हैं कि सात दिवस के अन्दर सर्वे अनिवार्य रूप से करा लिये जायें एवं 10 दिन के अन्दर उन्हें मुआवजा का भुगतान सीधे किसानों के बैंक खातों में करवा लिये जायें। सर्वे में जनता की संतुष्टि होना चाहिये। सर्वे ईमानदारी से हो। सर्वे सूची ग्राम पंचायतों में चस्पा की जाये। सर्वे के कार्य में जनप्रतिनिधियों को विश्वास में लिया जाये। कलेक्टर प्रतिदिन मॉनीटरिंग कर समय पर किसानों को मुआवजा का भुगतान किया जाये।

वीसी के माध्यम से मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कलेक्टरों को निर्देश दिये हैं कि सर्वे सूची भोपाल एवं सम्बन्धित जिलों के प्रभारी मंत्री को सूची उपलब्ध कराई जाये। सरकार किसानों के प्रति संवेदनशील है। राहत देने में सरकार कटिबद्ध है। इसी तरह मुख्यमंत्री ने 12 जनवरी को प्रदेशव्यापी रोजगार दिवस कार्यक्रम की समीक्षा की। उन्होंने जिला कलेक्टरों को अवगत कराया कि राज्य स्तरीय रोजगार दिवस का कार्यक्रम भोपाल के कुशाभाऊ ठाकरे हॉल (मिंटो हॉल) में दोपहर एक बजे से कार्यक्रम का सीधा प्रसारण होगा। सीधा प्रसारण न्यूज चैनलों एवं सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से किया जायेगा। राज्य स्तरीय प्रसारण का जिला स्तरीय कार्यक्रम में भी दिखाने की व्यवस्था स्थानीय स्तर पर जिला प्रशासन द्वारा की जायेगी। जिलों में रोजगार दिवस कार्यक्रम का आयोजन जिला मुख्यालय में किया जाना है। गाईड लाइन का पालन अनिवार्य रूप से सुनिश्चित किया जायेगा।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने वीसी के माध्यम से अवगत कराया कि प्रदेश में लगभग पांच लाख से अधिक हितग्राहियों को स्वरोजगार के पत्रक वितरित होंगे। उन्होंने कलेक्टरों को निर्देश दिये कि कार्यक्रम में विभिन्न स्वरोजगार योजनाओं के अधिकतम सौ लाभान्वित हितग्राहियों को आमंत्रित कर उन्हें स्वीकृति/वितरण पत्र जनप्रतिनिधियों के माध्यम से सांकेतिक रूप से वितरित किये जायेंगे। शेष अन्य हितग्राहियों को सम्बन्धित बैंक/विभाग स्वीकृति वितरण की कार्यवाही सम्बन्धित हितग्राहियों को पहुंचाने का कार्य सुनिश्चित करें। कार्यक्रम गरिमापूर्ण कर सम्बन्धित जिलों के जिला प्रभारी मंत्रियों को आमंत्रित कर कार्यक्रम किया जाये। कार्यक्रम का व्यापक प्रचार प्रसार कर वातावरण निर्माण किया जाये।

जिला स्तर पर होने वाले कार्यक्रम की रूपरेखा कलेक्टर के निर्देशन पर निर्धारित कर कार्यक्रम का आयोजन सम्पादित किया जायेगा। कार्यक्रम में सम्बन्धित विभागों एवं बैंकों की भागीदारी होगी। मुख्यमंत्री इस दिन भोपाल से सीधे छह जिलों नीमच, झाबुआ, बालाघाट, रीवा, ग्वालियर एवं टीकमगढ़ के दो-दो हितग्राहियों से वर्चुअल संवाद करेंगे। इसके लिये जिला प्रशासन द्वारा आवश्यक व्यवस्था की जायेगी।

वीसी में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कोविड की समीक्षा की और सम्बन्धितों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। समीक्षा के दौरान जिला कलेक्टरों को निर्देश दिये हैं कि हर हाल में 15 से 18 वर्ष की आयु के युवाओं को शत प्रतिशत कोवेक्सीन का टीका लगाया जाना सुनिश्चित करें। सेम्पलिंग का कार्य बढ़ाया जाये। उन्होंने होम आइसोलेशन एवं कोविड केयर सेन्टर की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने कोरोना की समीक्षा के दौरान इन्दौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, उज्जैन, शहडोल, रीवा आदि संभागों की समीक्षा कर जिला कलेक्टरों से चर्चा कर कोरोना की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कलेकटरों को निर्देश दिये कि अपडेट रहें, कोविड की रणनीति ठीक ढंग से कर हालात को काबू रखें। उनके द्वारा 16 जनवरी को पुन: कोरोना की समीक्षा विस्तार से की जायेगी।

उज्जैन वीसी में संभागायुक्त श्री संदीप यादव, कलेक्टर श्री आशीष सिंह, जिला पंचायत सीईओ सुश्री अंकिता धाकरे, स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त संचालक, कृषि विभाग के उप संचालक, उद्यानिकी विभाग के सहायक संचालक, उपायुक्तद्वय आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here