ट्रेन के आखिरी डिब्बे के पीछे ‘X’ क्यों लिखा होता है? जानिए इसके पीछे का कारण

0
388
Interesting Facts about Railways : आपने ट्रेनों के आखिरी डिब्बे के पीछे एक्स बना हुआ देखा होगा। रेल मंत्रालय ने ट्वीट कर बताया है कि आखिरी कोच पर एक्स क्यों बना होगा है। इसका मतबल है कि यह ट्रेन का आखिरी कोच है। अर्थात ट्रेन किसी भी कोच को पीछे छोड़े बिना आगे बढ़ रही है। नई दिल्ली : भारत में दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है। रोजाना लाखों लोग भारतीय रेलवे (Indian Railways) से सफर करते हैं। जब आप ट्रेन, रेलवे प्लेटफॉर्म और रेलवे ट्रैक को देखते होंगे, तो आपको कई सारी रोचक चीजें देखने को मिलती होंगी। आपके मन में इनसे जुडे़ सवाल भी आते होंगे। जैसे- रेलवे ट्रैक पर गिट्टी क्यों बिछाई जाती है। रेल कैसे मुड़ती है। जंक्शन, टर्मिनल और सेंट्रल में क्या फर्क है आदि। ऐसा ही एक सवाल है कि ट्रेन के पीछे क्रॉस (X) क्यों बना होता है। आपने अपनी रेल यात्राओं के दौरान ट्रेनों के पीछे क्रॉस का निशान जरूर देखा होगा। आपने भी इसका कारण जानने की कोशिश की होगी। अब रेलवे ने खुद इसके बारे में बताया है।

क्यों बना होता है ट्रेनों के पीछे एक्स

ट्रेनों के पीछे क्रॉस या एक्स क्यों बना होता है, इसके पीछे का कारण खुद रेलवे ने बताया है। रेल मंत्रालय ने एक ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। रेल मंत्रालय ने अपने ट्वीट में बताया, ‘क्या आप जानते हैं? ट्रेन के आखिरी कोच पर बना हुआ ‘X’ बताता है कि ट्रेन बिना किसी कोच को पीछे छोड़े चल रह है।’ ट्वीट में ‘X’ फेक्टर के बारे में लिखा गया, ‘ट्रेन के कोच पर बने ‘X’ का मतलब होता है कि वह ट्रेन का आखिरी कोच है। रेलवे के अधिकारियों को इससे पता चलता है कि ट्रेन बिना किसी कोच को पीछे छोड़े ठीक तरह से चल रही है।’

यूजर कर रहे तरह-तरह के कॉमेंट्स

रेल मंत्रालय के इस ट्वीट को अब तक 2.24 लाख व्यूज और 4 हजार से अधिक लाइक्स मिल चुके हैं। इस ट्वीट पर ट्विटर यूजर्स ने तरह-तरह के कॉमेंट्स भी किये हैं। एक यूजर ने लिखा, ‘मुझे हमेशा लगता था कि यह स्वैग के लिए लिखा गया है।’ एक दूसरे यूजर ने लिखा, ‘LV (लास्ट व्हीकल) भी। यह ‘X’ और ‘LV’ बचपन से मेरे दिमाग में थे। जवाब देने के लिए धन्यवाद।’

मुझे लगा एक्सप्रेस ट्रेन के लिए है

एक दूसरे यूजर ने लिखा, ‘दिन के समय में एलवी लास्ट व्हीकल बोर्ड है। रात में टिमटिमाता टेल लैंप का मतलब है ट्रेन पूरी तरह से आ गई है। यह गार्ड की ड्यूटी है कि वह दिन के समय एलवी बोर्ड लगाए और रात में टेल लैंप ऑन करे। यह पैसेंजर ट्रेन और मालगाड़ी दोनों के लिए है। एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘और मुझे लगता था कि इसका मतलब एक एक्सप्रेस ट्रेन को दर्शाना है। बहुत सारी यात्री ट्रेनों के अंत में यह प्रतीक नहीं होता है… इसलिए, मैंने ऐसा सोचा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here