सिंहस्थ के पहले वाहनों की अत्यंत संख्या देखते हुए, छह लेन के साथ सड़कों के दोनों तरफ सर्विस लेन भी बनाना चाहिए

0
66

इंदौर ।   हर 12 वर्ष के बाद लगने वाले सिंहस्थ के लिए इंदौर उत्थान अभियान ने इंदौर-उज्जैन मार्ग के चौड़ीकरण की मांग की है। इसके लिए समिति द्वारा सांसद शंकर लालवानी को पत्र लिखा है। पत्र में जाम की समस्या से निजात पाने के लिए इस मार्ग को छह लेन का करने की मांग की गई है। इंदौर उत्थान अभियान के अध्यक्ष अजीतसिंह नारंग ने पत्र में 2016 में आयोजित सिंहस्थ का जिक्र करते हुए लिखा है कि पिछली बार चार लेन के मार्ग पर आवागमन कठिनाइयों से भरा रहा था। लोगों को जाम की समस्या से जूझना पड़ा था। इसके चलते वर्ष 2028 वर्ष में सिंहस्थ से पहले चार लेन के मार्ग को छह लेन का बनाना चाहिए। दरअसल, इस मार्ग का चौड़ीकरण करके छह लेन मार्ग बनाया जाना प्रस्तावित है। हालांकि छह लेन के मार्ग से भी कुछ हद तक ही समस्या का समाधान होगा। वाहनों की अत्यंत संख्या देखते हुए छह लेन के साथ सड़कों के दोनों तरफ सर्विस लेन भी बनाना चाहिए। इसके लिए सड़क चौड़ीकरण का कार्य जल्द शुरू करना चाहिए। ताकि अच्छी गुणवत्ता के साथ निर्माण कार्य संपन्न हो।

इलेक्ट्रिक हाईवे व बसों के संचालन पर विचार हो

साथ ही जनहित में इस मार्ग पर यातायात के लिए लोक परिवहन के रूप में इलेक्ट्रिक केबल हाईवे और इलेक्ट्रिक बसों के संचालन के विकल्प पर भी गंभीरता से विचार किया जाना आवश्यक है। इलेक्ट्रिक केबल हाईवे चलाने में बहुत बड़ा लाभ यह है कि इसमें एक साथ तीन कोच जोड़ कर चलाया जा सकता है। इससे एकसाथ 150 यात्रीगण भी सफर कर सकते हैं, जो हर दृष्टि से सुविधा जनक और लाभप्रद है। इसका संचालन भी डीजल आदि अन्य वाहनों की तुलना में 30 प्रतिशत सस्ता पड़ता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here